आयो आयो डोगरेयो, दिखो साड़े रवाज ते चक्खी लाओ स्वाद

आयो आयो डोगरेयो , आयो आयो डोगरेयो

दिखो साड़े रवाज , ते चक्खी लाओ स्वाद

 

गलांदे ने चरोलु कन्ने बनदिया न चरोलियाँ

जिन्नी भी बनी जान लगदिया न थोडियाँ

खमीर लगे अट्टे कि ते बनी गए बब्बर

चा ते चारा कने खाई जंदा सारा टब्बर

Gulra_dogra speciality
गुलरा

लगे तड़का सागा कि ते बनी गया कसरोड़

ईधे कने पुख्ती जन्दा साडा अधा नंदरोड़

जिसले लगदा तड़का मेथरे दा ते बनी जन्दी मिरी

जीबा च पानी आवा करदा तुहाडी ते मेरी

 

चाए ओवे ब्याह कोई , चाए ओवे कोई त्यहार

बल्दी है रस्सो ते बनी जनदे क्युर

खंड कने  खाओ पाए लाओ कने दयीं (दहीं)

साड़े डोगरे दे पकवान ऐ बड़े मशहूर

 

ओवे कुसे दिया रीता ते बन्दी है सुंड

जे ओवे ब्याह ते बंडदे न गुलरा

कास्ती अल्ले दिन थोंदा है आट्टे दा चूरमा

खाई ए बदाम,काजू,सोगी आला मीठा मदरा , बन्ने दे आज अस सुरमा

 

दिखो हा दोस्तों साड़े खान-खुवान दे किन्ने सोह्ने नां

चिंटू ते रिताज़ आंगर रोंदे न बार जेड़े डोगरे

उन्हें कि आई जन्दी चेअता अपनी दादी ते माँ

 

साड़े पान्डे भी ताम्बे दे,

कुन्नी चढ़दी है दाल अल्ले भी

अपने रीती-रवाज कि बचान लेई

सड़कां-सड़कां फिरना है जम्मुयें दी!!!

आयो आयो डोगरेयो

 

लेखक : रिताज़ गुप्ता ते राकेश साम्ब्याल

Check Also

Praduman Singh-Jammu-Dogri-डोगरी-प्रदुमन सिंह

Jammu loses its devoted Dogri emissary Praduman Singh Jindrahia

With passing away of Legendary Dogri Folk Singer and Poet Praduman Singh Jindrahia, on thursday …

One comment

  1. Rakesh singh sambyal

    hope u guys like it and i will promise u that i will come up with more new editions ,,,,,,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *